Wednesday, August 22, 2018

Yug Badle Duniya Badli

युग बदले, दुनिया बदली, मानव की आस्था बदल गयी,
हम बदले, तुम भी बदले, घर घर की व्यवस्था बदल गयी ||

शूर वीर योधाओं की परिभाषा आज निराली है,
कट्टा उस्तरा जेब में है, तो वही वीर बलशाली है,
आला और उदल के हथियारों की गाथा बदल गयी || हम ||

पति मृत्यु पर सती होने के किस्सों ने मुँह मोड़ लिया,
घासलेट ने चन्दन चिता के दस्तारों को तोड़ दिया,
पति के हाथों सती जल गयी, सती की प्रथा बदल गयी || हम ||

पिता हो गए डैड, मम्मी को मौम बनाया है,
लड़का, लड़की समझ न आते, फैशन कैसा आया है,
"पदम्" आज तो चरण छूने की सारी व्यथा बदल गयी || हम ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives