Thursday, August 30, 2018

Mai Hoon Jogi

मैं हूँ जोगी तू है मेरी जोगनिया,
छम छम बाजे तेरी पैजनियां || मैं हूँ ||

चंदा सा है मुखड़ा तेरा, गेसू कारे कारे रे,
नैना तेरे सावन भादो, थम थम के मति बरसा रे,
जीने न देगी मुझे साज्नियां || मैं हूँ ||

जब से सोलह साल लगो है चाल में मस्ती आई रे,
गाल गुलाबी ओंठ रसीले, काहे को ले अंगड़ाई रे,
चाल चले है जैसे नागनियां || मैं हूँ ||

एक नज़र तू जिस पर डाले, मन को चैन न आये रे,
वह दीबाना करबट बदले, रात को नींद न आये रे,
काहे "पदम्" पे डाले मोहनियां || मैं हूँ ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives