Monday, August 20, 2018

Aayi Jagraate Ki Raat

------ तर्ज:- गौरी कबसे हुयी जवान ------
------ फिल्म:- फूल बने अंगारे ------

लागों चरणा विच ध्यान, जागो जागो अम्बे मात,
जागो मात अम्बे मात, आई जगराते की रात ||

श्रद्धा भक्ति प्रेम भी जो भी माँ की ज्योत जगाये - 2
अष्ट भुजी माता जगदम्बे बेड़ा पार लगाये -2
खोलो खोलो अपने हाथ, बोलो जयकारा इक साथ ||

नरियल पान सुपारी निबुआ माँ के मन को भाये - 2
सोना चांदी छतर चड़ावा अकबर के ठुकराए - 2
मैया सुनती है फरियाद, ध्यानू भगत की रखली बात ||

"पदम्" लिखे माँ गीत तुम्हारे गुण गाये दिन रैना -2
आ जाओ माँ शेर सबारी तरस रहे है नैना - 2
सर पे रहे तुम्हारा हाथ, ऐसा दे दो आशिर्बाद ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives