Thursday, December 30, 2021

Shri ram ka pahle sumran kro

            तर्ज़:-पल पल न माने टिंकू जिया

           फ़िल्म:-यमला पगला दीवाना


                  * राम जी का भजन*

     श्री राम का पहले सुमरन करो

     नए बर्ष का अभिनंदन करो

(1)इक्कीश गई साल बाईश आई

    आशा उम्मीदों की सौगात लाई

    बीरों शहीदों का चिंतन करो ।।

    नये बर्ष का अभिनंदन करो ।।

(2)दो दिन का वचपन दो दिन जवानी

    हमको सिखाती है तुलसी के बानी

    हरि कीर्तन मन समर्पण करो ।

    नये बर्ष का अभिनंदन करो ।।

(3)जग में नही कोई तेरा न मेरा

   सत्कर्म से दूर होंगा अन्धेरा

   दया धर्म की ज्योत रोशन करो ।

   नये बर्ष का अभिनंदन करो ।।

(4)शनिवार को यह नया बर्ष आया

    हनुमान जी का शुभ सन्देश लाया

  "पदम्"रोज बजरंग के दर्शन करो।

   नये बर्ष का अभिनंदन करो ।।

                    //इति//

Share:

Wednesday, December 29, 2021

Tu kitni sachchi he,tu kitni bhori

 तर्ज़:-तू कितनी अच्छी है,तू कितनी भोली है

फ़िल्म:- राजा और रंक

                                * राधे भजन*


    तू कितनी सच्ची है,तू कितनी भोरी है

    बृज की छोरी है,राधे जू, राधे जू

    राधे जू, श्यामा जू----------

    यह जो मधुवन है,प्रेम का बन्धन है

    प्रीत की डोरी है,राधे जू, राधे जू

    राधे जू, श्यामा जु---

(1)तू बृषभान की राज दुलारी

    कोई न जाने तू अवतारी, चरन कमल बलिहारी

    तू मन भावन है,मन की पावन है

    नवल किशोरी है,राधे जू, राधे जू

    राधे जू, श्यामा जु-----


 (2)तू कोमल है,तू चंचल है

     तू निर्मल है ऐसे जैसे ,जमुना जी का जल है

     हर घर आंगन में,बृज के कण कण में

     राधे गोरी है,राधे जू, राधे जू

     राधे जू, श्यामा जू--------

(3) क्या गोकुल है क्या वरसाना,

    "पदम्"यह सारा बृंदावन है,राधे का दीवाना

    तेरे चरणों की रज मिलजाए तो,

     किरपा तोरी है,राधे जू, राधे जू

     राधे जू, श्यामा जू------ 

                      //इति//

 



Share:

Thursday, December 23, 2021

Radha vallabh teri aashiqi,

तर्ज़:- जिंदगी की न टूटे लड़ी


फ़िल्म:-क्रांति

                            राधा वल्लभ भजन

     राधा वल्लभ तेरीआशिक़ी ,खुशनुमा हो गई जिंदगी

     मोह माया की दुनिया को छोड़ो

     श्याम की कीजिये वन्दगी,खुशनुमा हो गई जिंदगी ।।

(1)मेरा दिल ले लिया आपने,यह करम कर दिया आपने

    हैसियत मेरी इतनी न थी,जितना मुझको दिया आपने

    मिल गई है मुझे हर खुशी,खुशनुमा हो गई जिंदगी ।।

(2)जबसे तेरी शरण आ गया,तेरे दर ही मुकाम हो गया,

   अब किसी दर पे जाना नही,इसी दर का गुलाम हो गया

   अब न छोड़ू तेरी चाकरी,खुशनुमा हो गई जिंदगी ।।

(3)सांवली है सूरत श्याम की,मोहिनी है मूरत श्याम की,

आपकी है शरण मे "पदम्" जपु माला तेरे नाम की

छवि प्यारी लगे आपकी,खुशनुमा हो गई जिंदगी ।।

                              //इति//

      

Share:

Wednesday, December 22, 2021

Ram ki diwani he,ke shabri

   तर्ज़:- हुस्न पहाड़ों का

  फ़िल्म:- राम तेरी गंगा मैली हो गई

                             *शबरी भजन*


     राम की दिवानी है-----राम की दिवानी है

    के सबरी भई रे बाबरी,यही अमर कहानी है-2

    कबहु तो आएँगे,-----कबहु तो आएँगे

   अँगना बिछा के पलकें,हम राह निहारेंगे,-2

(1)राम लखन जब कुटिया में आये

    शबरी मगन मन अति हर्षाये

    मीठे मीठे चख चख बेर खिलाये-2

    रुचि रुचि हरि खाये

    राम जी की महिमा है,लक्ष्मण जी सकुचाये-2

(2) राम सदा सन्तन हितकारी

     शबरी तारी अहिल्लिया तारी

    राम के चरनन की बलिहारी-2

    अबध बिहारी है

    के दसरथ जी के ललना,बड़े आज्ञाकारी है-2

(3)भवसागर का गहरा पानी

    राम भजन करले रे प्राणी

  "पदम्"यूं कह गए ज्ञानी ध्यानी

   रुत आनी जानी है

   माया में मन भटका,चार दिन जिंदगानी है-2

    राम की दिवानी है

   के शबरी भई रे बाबरी,यही अमर कहानी है

                         //इति//


   

  


Share:

Monday, December 13, 2021

Nile ghode bala mera shyam he

              तर्ज़:- काली कमली बाला मेरा यार है

    नीले घोड़े बाला मेरा श्याम है-2


    कोटि कोटि चरणों मे प्रणाम है।।

(1)हारे का है एक सहारा,खाटू बाला श्याम हमारा ।

   सबसे प्यारा बाबा का यह नाम है।।कोटि कोटि।।

(2) हम जपते है नाम तुम्हारो,भव सागर से पार उतारो

    दुनिया के लोगो से अब क्या काम है ।।कोटि कोटि ।।

(3)रिस्ते नाते सब है झुटे,एक बाबा का द्वार न छूटे।

    सबसे अच्छा सबसे सच्चा धाम है ।।कोटि कोटि।।

(4)अपने दर से अब न टालो,"पदम् को अपना दास बनालो।

    बुरा भला हे तेरा ही गुलाम है।।कोटि कोटि।।

                         //इति//







    


    

              

Share:

Friday, October 8, 2021

भवानी माँ दया करदो,तुम्हारे द्वार आये हैं

                             

तर्ज़ :---सजादो घर को गुलशन सा ,मेरे सरकार आये हैं

                        देवी भजन

     भवानी माँ दया करदो,तुम्हारे द्वार आये है ।------2

     शिवानी माँ विपति हर लो,तुम्हारे द्वार आये हैं ।।

(1) न है दौलत की कुछ आशा, 

      न है शोहरत की अभिलाषा ----2


     कृपा का हाथ सर रख दो, तुम्हारे द्वार आये हैं ।।

(2) तुम्ही ने महिषा सुर मारा,

     तुम्ही ने ध्यानू को तारा -------2

    हमे भक्ति का एक वर दो , तुम्हारे द्वार आये हैं ।।

(3) "पदम्"इतना दिया माँ ने,

       शरण मे ले लिया माँ ने -2

      मेरी बाणी में रस भर दो ,तुम्हारे द्वार आये है ।।

                             //इति//


Share:

Sunday, September 19, 2021

सजादो मन को मधुवन सा, मेरे गणराज आये है।

       तर्ज़:-सजादो घर को गुलशन सा, मेरे सरकार आये है।

                  *श्री गणेश जी का भजन*

   सजादो मन को मधुवन सा,मेरे गणराज आये है ।

   लगे हर गुल भी गुलशन सा,मेरे गणराज आये है ।।

(1)सुदी भादों चतुर्थी को,झुलावे गौरा गणपति को-2
    चमन महकेगा चन्दन सा,मेरे गणराज आये है ।।

(2)है माता गौरा कल्याणी,पिता है भोले वरदानी-2
   ललन है अलख निरंजन सा,मेरे गणराज आये है ।।

(3)है दाता रिद्धि सिद्धि के,है दाता ज्ञान बुद्धि के-2
   "पदम्"है दास निर्गुण सा,मेरे गणराज आये है ।।
   सजादो मन को मधुवन सा,मेरे गणराज आये है ।।
                          //इति//   





                 

Share:

Saturday, August 14, 2021

Maiya teri mahima ham n jani

                             तर्ज़:- बन्नो तेरी अखियां सुरमेदानी


           मैया तेरी महिमा हम न जानी ।।

     (1) मैया तेरी चुनरी लाख की रे,

          मैया तेरा टीका है  हजारी ।।

     (2)  मैया तेरी बिंदिया लाख की रे,

           मैया तेरा बेंदा है हजारी ।।

     (3) मैया तेरी पायल लाख की रे,

          मैया तेरा कंगना है हजारी ।।

     (4) मैया तेरी झुमकी लाख की रे,

          मैया तेरा झुमका है हजारी

     (5) मैया तेरी मुंदरी लाख की रे,

          मैया तेरा हरवा है हजारी ।।

     (6) मैया तेरी चूड़ियां लाख की रे,

          मैया तेरा चूड़ा है हजारी ।।

    (7)  मैया तेरा पंडा लाख का रे,

        "पदम्" तेरा ललना है हजारी ।।

                                     //इति//

           

Share:

Friday, August 13, 2021

More angana padharo maiya sharde ho ma

           

         तर्ज़:-तोरे मढ़ पे बदरा हो रहे हो मां,(जस)

                                  

              

                                       //जस//

        मोरे अँगना पधारो मैया, शारदा हो मां

       मैया सुनलो हमारी पुकार हो-------- -

       मोरी मैया महारानी।।मोरे अँगना पधारो मैया।।

(1)  कब आएगी मैया राह निहारे

       दुखन लागे मैया नयन हमारे

       मैया कर दइयों उपकार हो------------------

       मोरी मैया महारानी।।मोरे अँगना पधारो मैया।।

(2)  दया करो जी मैया मैहर बाली

       तुम ही दुर्गा तुम ही काली

       मैया तोरे रूप हजार हो....................

       मोरी मैया महारानी ।।मोरे अँगना पधारो मैया।।

(3)  ऊंचे ऊंचे मैया जी के भुवन बने है

      भुवन में मैया जी के आसन लगे है

      मैया लाल लाल मैया को सिंगार हो-----------------

      मोरी मैया महारानी।।मोरे अँगना पधारो मैया।

(4) सुमर सुमर मैया तोरे जस गावे

      जन्म जन्म के दुख कट जावे

      मैया :पदम्" करे जयकार हो-----------------

     मोरी मैया महारानी।।मोरे अँगना पधारो मैया,।।

                             //इति//


Share:

Monday, August 9, 2021

Me B.J.P.ka sankhnad chahun or Suna kar jaunga

        **** बी.जे.पी.पिछड़ा बर्ग मोर्चा अध्यक्ष का शंखनाद****

    में ,बी. जे .पी,. का शंखनाद चहुँ ओर सुनाकर जाऊँगा।


   में कमल खिलाने आया हूँ मै कमल खिलाकर जाऊंगा।।

(1)में कमलनाथ ओर गांधीवाद को ओर नही चलने दूंगा

   में जातिवाद ओर बंश वाद को ओर नही पलने दूंगा

   में भारत माँ के आंचल पर यह दाग हटाकर जाऊंगा।।में कमल।।

(2)कांग्रेस की तानाशाही,चमचों से फल फूल रही,

   कांग्रेस अपनी मर्यादा ,अपने वादे भूल रही

   में रावण से अन्यायी का ,में अंश मिटाकर जाऊंगा।।में कमल।।

(3)70 साल से कांग्रेस यह देश प्रदेश को लूट रही 

   कांग्रेश की राजनीति से,कांग्रेस खुद टूट रही

   भोली भाली जनता को में राह दिखाकर जाऊंगा।।में कमल।।

(4)सिंधिया जैसे बरिष्ठ नेता राहुल से मोह मोड़ गए

   अपने संग समर्थक लेकर कांग्रेस को छोड़ गए

   में मध्य प्रेदेश को कोंग्रेस से मुक्त कराकर जाऊँगा।।में कमल।।

(5)"पदम्"देश के मतदाता का हम कर्ज़  चुका नही पाएंगे

   राम के आदर्शों पर चलकर राम राज्य फिर लाएंगे

   में विश्व पटल पर भारत को सम्मान दिला कर जाऊंगा

   में कमल खिलाने आया हूँ मै कमल खिलाकर जाऊंगा।।

                                         //इति//

Share:

Me Madhy predesh ke nagar nagar yh alakh

    **** बी जे पी पिछड़ा बर्ग अध्यक्ष का चुनाव प्रचार 2020****

     में मध्य प्रेदेश के नगर नगर यह अलख जगाने आया हूँ


    में बी जे पी का डगर डगर परचम लहराने आया हूं ।।में म.प्र. के।।

  (1)मतदाता ने अपने मत का जब जोहर दिखलाया है

       मध्य प्रेदेश में बी जे पी को सिंघासन बैठाया है

      यह जन जन को हे धन्यवाद,आभार जताने आया हूँ।।में म.प्र. के।।

  (2) कांग्रेस ने हर किसान को झूठ फरेब से लूटा है

       कांग्रेस के हर चुनाव का हर एजेंडा झूठा है

      कांग्रेस फिर वहकायेगी यही बताने आया हूँ।।में म.प्र. के।।

 (3) मतदाताओं से विनती है,यह हाथ जोड़ समझाना है

      कमल के फूल का बटन दवाकर विजय श्री दिलबाना है

      में बी जे पी के प्रत्याशी का प्यार लुटाने आया हूँ।।में म.प्र. के।।

(4) में पिछड़ा बर्ग मोर्चे का अध्यक्ष निवेदन करता हूँ

     में भगत सिंह कुशवाह हूं जन जन को वन्दन करता हूँ

     में बी जे पी का सैनिक हु बस कमल खिलाने आया हूँ।।में.प्र. के।।

    यह"पदम्" लिखे प्रचार गीत,के पुष्प खिलानेआया हूँ।।में म.प्र.के।।

                              //इति//





Share:

Saturday, August 7, 2021

Corona ke sankat se milkar hme

             तर्ज़:- होंठों को छुलो तुम,मेरे गीत अमर करदो

            फ़िल्म:-  प्रेम गीत

          

         

               *  कोरोना संकट में म .प्र.सरकार की पहल *


              कोरोना के संकट से,मिलकर हमे लड़ना है ।

              घर मे ही रहना है,  बाहर न  निकलना है  ।।

        (1) भोपाल की गलियों में घर घर हम जायेगे

               भूखा ना रहे कोई, भोजन   पहुचायेगे 

               सरकार का है वादा शिव राज का कहना है।।कोरोना।।

         (2) रामेश्वर शर्मा ने यह बचन निभाया है

               मजदूर गरीबों को राशन पहुचाया है

              कोरोना हराना है,c m की तमन्ना है।।कोरोना।।

         (3) शहरों और गांव में फैली है महामारी

              कोरोना भगाने में लगे योद्धा कर्मचारी

              कानून का हम सब को पालन भी करना है।।कोरोना।।

        (4) यह ताला बन्दी भी , ऐसी मजबूरी है

             दो गज की दूरी भी जन जन को जरूरी है

             कहता है"पदम्"सबको पग पग पर सम्हलना है।।कोरोना।।

                                           //इति//

                                    


Share:

Mahamari corona he,jane kya hona he

      तर्ज़:-एक प्यार का नगमा है मोजों की रवानी है

     फ़िल्म :-शोर


                     ;  महामारी कोरोना का गीत  ;

             महामारी कोरोना है,जाने क्या होना है ।

            ना दवा है ,ना दुआ है,बस रोना ही रोना है ।।

      (1) ना अज़ान है मस्ज़िद में,ना है आरती मन्दिर में,

           आलम है उदासी का,  मातम है घर घर मे ।

           किस किस को खो बैठे,किस किस को खोना है।।ना दवा है।।

      (2) शमशान नही खाली,लाशें लगी लाइन में,

          मुँह तक न देख सके,माँ का अंतिम छन में ।

         लाशों की माला में,किस किस को पिरोना है।।ना दवा है।।

      (3) कई मांग हुई सुनी,कही भाई छोड़ गया,

            बूढ़े मा बाप तो है, बेटा मुँह मोड़ गया ।

           जीवन अनमोल "पदम्" शीशे का खिलोना है।।ना दवा है।।

                               //  इति//


Share:

Friday, August 6, 2021

Corona he corona

        तर्ज़:- बतादूँ क्या लाना,तुम लोट कर आ जाना

        फ़िल्म:- पत्थर के सनम

                             !!कोरोना जागृति गीत!!

            कोरोना है कोरोना,साबुन से हाथ धोना

           वरना पड़ेगा रोना,भैया याद रखोगे या भूल जाओगे

                (1) जब सर्दी हो या खांसी का होना 

                     बुखार जो आये तो समझो कोरोना

    ऐसे रोगी को न छिपाना है जाके स्वाथ्य कर्मी को बताना है

    यह है मोत का खिलौना,अपनो को नही खोना

    कोरोना से डरो ना,भैया याद रखोगे या भूल जाओगे।।कोरोना।।

                  (2)यह लाक डाउन का पालन जो करेगा,

                      जो घर मे रहेगा बही स्वथ्य रहेगा

      हम मिल के कोरोना भगाएंगे,सब को महामारी से बचायेगे

      कही भीड़ में न जाना,कही हाथ न मिलना

     बस नमस्ते करो ना, भैया याद रखोगे या भूल जाओगे।।कोरोना।।

                   (3)यह मोदी नही है यह शक्तिमान है

                      दुनिया भी कहती है भारत महान है

  आरोग्य एप्प डाऊन लोड कीजिये, कितने है सुरक्षित आप जान लीजिए

   बस शाकाहारी खाना, स्वदेसी को अपनाना,

   यह "पदम्"का समझाना,भैया याद रखोगे या भूल जाओगे।।कोरोना।।

                                     ।। इति ।।

       

                                          

Share:

Aa gyo hatyaro corona

                          लोक गीत धुन पर आधारित

                          *  हत्यारो कोरोना  का गीत *

            आ गयो हत्यारो कोरोना।आ गयो हत्यारो कोरोना

                 (1)     कोना घड़ी में चीन से आयो

                          हां चीन से आयो

                          हाय गजब कर डारो ।।कोरोना।।

                (2)    इतनी लाशों पे इटली रो रही

                        हां इटली रो रही

                        अमरीका भी हारो।।कोरोना।।

              (3)     पाकिस्तान में भूखे मर रहे

                         हां भूखे मर रहे

                         हम से मांगे सहारो।।कोरोना।।

               (4)   "पदम्"जो भारत देश मे आयो

                        हां देश मे आयो

                        मोदी जाय पछाडो ।।कोरोना ।।

                       आ गयो हत्यारो कोरोना ।।

                                 !!इति!!


                 

Share:

Corona,corona se darna nhi

        तर्ज़:-परदेसी,परदेसी जाना नही,मुझे छोड़कर.....

        फ़िल्म:- राजा हिंदुस्तानी

           



* कोरोना जागरूकता गीत *

कोरोना, कोरोना से डरना नही,
चला जायेगा इंडिया छोड़ कर
 कोरोना है कोरोना इससे डरो ना
                    अपने हाथ धोना,कही भूल न जाना।।कोरोना।।
(1)  पी एम मोदी जनता कर्फ्यू लाया था
     जनता ने भी थाली शंख बजाया था
      चौदह घण्टे घर से कहीं न जाना था
           सबको मिलकर कोरोना को भगाना था
        अब ऐसा कुछ करो ना,इससे लड़ो ना
                 घर मे रहो ना,कहीं भूल ना जाना।।कोरोना।।
(2) इक्कीस दिन की तालाबन्दी भारत मे
     अब तो घर मे रहना हो गया आदत में
कोरोना से बचना बहुत जरूरी है
एक मीटर की दूरी भी मजबूरी है
       गर सर्दी खांसी होना,कोरोना का आना
               नमस्ते करो ना,कही भूल न जाना।।कोरोना।।
(3) मोदी जी का हाथ जोड़ कर कहना है
 कोरोना की महामारी से भिड़ना है
   जो है जहां बहां से कहीं न जाना है
      घर से बाहर सबको मास्क लगाना है
  हर भारती जागेगा,कोरोना भागेगा
"पदम्"की सुनो ना,कहीं भूल ना जाना।।कोरोना।।
।।  इति ।।


Share:

Desh ke bhavi nayak ho tum

    तर्ज़:- स्वर्ग से सुंदर सपनो से प्यारा,हैअपना घर द्वार

   फ़िल्म:-घर द्वार 

 

                                   * बाल दिवस गीत *

    देश के भावी नायक हो तुम,नवयुग की पतवार

   तुम पर रहे बरसता यू ही,शिक्षक जन का प्यार

   उदय हो भाग्य तुम्हारा,यह आशीर्वाद हमारा।।

(1) अवसर बाल दिवस का,कुछ सीखो ओर सिखाओ,

      ज्ञान महासागर है,इसे समझो ओर समझाओ

     भेद भाव और ऊंच नींच की,नही बनो दीवार।।उदय हो।।

 (2) देश के तुम निर्माता,तुम देश के भाग्य विधाता

       देश का वीर सिपाही ,सरहद पे जान गंवाता

       मात्र भूमि की रक्षा करने,सदा रहो तैयार।।उदय हो ।।

 (3) मात पिता के जैसा,कोई और नही है दूजा

     इनका कर्ज़ चुके ना,तुम करलो इनकी पूजा

    गुरु जनो के चरणों मे नित"पदम्"है सेवादार।।उदय हो।।

                                ।। इति ।।





Share:

Sajado man ko mandir sa,mere

    तर्ज़:- सजादो घर को गुलशन सा, मेरे सरकार आये है

             


        गणेश जी का भजन

        सजादो मन को मंदिर सा, मेरे गणराज आये है।

        लगे मन्दिर भी सुंदर सा, मेरे गणराज आये हैं।।

  (1)  सुदी भादों चतुर्थी को,झुलावे गौरा गणपति को।

        ललन इनका मनोहर सा, मेरे गणराज आये है।।सजादो।।

  (2) है गौरा मात कल्याणी,पिता है भोले वरदानी ।

       ह्रदय जिनका समुन्दर सा, मेरे गणराज आये हैं।।सजादो।।

  (3) है स्वामी रिद्धि सिद्धि के,है दाता ज्ञान बुद्धि के।

      "पदम्"मिले ज्ञान अम्बर सा, मेरे गणराज आये है।।सजादो।।

                              ।।इति।।

             

Share:

Monday, November 26, 2018

Jalao Re Jyoti

------ तर्ज:- चलाओ न नैनों से बाण रे -----

जलाओ रे ज्योति, करो ध्यान रे 
माँ के चरणों में आन रे
कहीं निकल न जाये, कहीं निकल न जाये
ऐसा मौका महान रे |
शामिल भी हो, शामिल भी हो
हमरा भक्तों में नाम रे || जलाओ ||

ऊंचे पहाड़ों पे बैठी है माँ
मुंह माँगा बरदान देती है माँ
निर्बल को बलबान करती है माँ
निर्धन को धनबान करती है माँ || कहीं ||

मैया की सेवा में पंडा खड़े
ऊंचे शिखर लाल झंडा चढ़े
संजा सकारे करें आरती
मैया भी भव सिंध से तारती || कहीं ||

कैसे करूं पूजा और साधना
जानूं नहीं माँ की आराधना
मैया के द्वारे जो भी सबाली गया
अब तक कोई भी न खाली गया  || कहीं ||

मैया के द्वार पे आये हैं हम, पूड़ी और हलुवा चाड़ायेंगे हम |
लाल लाल चूनर उड़ायेंगे हम, "पदम्" माँ के गुणगान गायेंगे हम ||

-: इति :- 


Share:

Sunday, November 25, 2018

Baithi Singh Pe Savaar

------ तर्ज :- माहरे रस के भरो री राधा रानी ------

बैठी सिंह पे सबार माँ भवानी लागे, महारानी लागे,
माहणे ठंडा ठंडा बाण गंगा का पानी लागे ।।

ऊंचे ऊंचे परबत पर है, मैया के दरबार,
गुफा में बैठी वैष्णों माता, भरती है भंडार,
बैठी खोल के भंडारे महादानी लागे ।। महारानी ।।

पंडा बाबा करे आरती रोज सुबह और शाम,
नर नारी सब दर्शन करने, आयें तुम्हारे धाम,
लाल धुजा है शिखर पे, सुहानी लागे ।। महारानी ।।

पाप हरण करने को माँ ने, लिया काली अवतार,
खड़क त्रसूल से किया धरा पर असुरों का संहार,
मुण्ड माला है गले में, माँ शिवानी लागे ।। महारानी ।।

मैया के जयकारे गूंजे नौ दिन और नौ रात,
"पदम" पड़ा चरणों में मैया, सर पे रख दो हाथ,
सदा भक्तों पे मैया की मैहरबानी लागे ।। महारानी ।।

-: इति :-


Share:

Cheend Ko Dada Albela

छींद को दादा अलबेला,
लगे मंगल को मेला ।।


कोई कहे बजरंगी आला,
कोई कहे अंजनी के लाला
राम को भगत अकेला ।। लगे ।।


रावण पूंछ में आग लगाई,
तुमने उसकी लंका जलाई,
खेल अजब तुमने खेला ।। लगे ।।


सीता राम लखन मन लाई,
तुमने छाती फाड़ दिखाई,
कौन गुरु, कौन चेला ।। लगे ।।


छींद गांव की महिमा न्यारी,
मेला भरत दशहरा पे भारी,
भक्तों की रेलम रेला ।। लगे ।।


बजरंग के गुण गाओ प्राणी,
"पदम" यूं कह गये ज्ञानी ध्यानी,
जग है झूठा झमेला ।। लगे ।।


-: इति :-


Share:

Tu Hi Ambe Kaali Hai

------ तर्ज :- बड़ी मस्तानी है मेरी महबूबा ------
फिल्म :-----जीने की राह ----------
गर्दन में डाले है मुंडों के हार,
चली आ रही है सिंह पे सबार
बड़ी शान बाली है माता जगदम्बे
तू ही अम्बे काली है माता जगदम्बे ।।

वह है काली ऐसी माया उसकी जहां से निराली
माता तेरे दर से खाली जाये न कोई सबाली
असुरों को मारा है वह ही खप्पर बाली है ।। माता ।।

जय हो दुर्गे माता तुमको कहते हैं माता भवानी
सांचा है दुआरा जग में उनका नहीं कोई शानी
जग से वह न्यारी है वह कलकत्ते बाली है ।। माता ।।
आपने जहां में शान दुष्टों की आकर घटाई
आपने सभा में लाज हर दम "पदम" की बचाई
देवी ने गर्दन में मुण्डमाला डाली है ।। माता ।।

-: इति :-




Share:

Tu Meri Mata Beta Mai Tera

----- तर्ज :- मैं तेरी दुश्मन, दुश्मन तू मेरा -----
----- फ़िल्म :- नगीना -----

तू मेरी माता बेटा मैं तेरा, तू ज्योति मैं अंधेरा -2
आ जाओ माँ अब न करियो देर - लगाई टेर ।।

क्या लाया हूँ, क्या ले जाऊं, द्वार पे तेरे बलि बलि जाऊं,
करलूं पूजा, करलूं भक्ति, ऐसी मुझमें कहाँ है शक्ति,
मैंने तो डाला चरणों में डेरा ।। तू ज्योति ।।

निर्मल मन हे कोमल काया मुश्किल से यह नर तन पाया
क्या क्या बादें करके आया मूरख तूने जन्म गंवाया
यह दुनिया तो है रैन बसेरा ।। तू ज्योति ।।

माँ की महिमा सबसे न्यारी करती है वह शेर सवारी,
शेरा बाली ज्योता बाली, भक्तों की करती रखबाली,
भक्तों ने गाया गुणगान तेरा ।। तू ज्योति ।।

माँ दुर्गे की माला जपले, माँ की चौखट पर सर रखले,
अगर जो माँ की आंख खुलेगी "पदम" की झोली भरी मिलेगी,
ऐसा मिलेगा न मौका सुनहरा ।। तू ज्योति ।।

-: इति :-


Share:

Dam Dam Shivalay Me

------ तर्ज :- पल पल न माने टिंकू जिया ------
फिल्म :-------यमला पगला दीवाना --------
डम डम शिवालय में डमरू बजे,
बैठे जहां शंकर भबूती मले ।।

भर भर चिलम में शिव गांजा पिये हैं,
भर भर के लोटे से भंगिया पिये हैं ,
बल खाये विषधर जिनके गले ।। बैठे ।।

करते हैं भोले बाबा नंदी सबारी,
तीनों लोकों के स्वामी त्रपुण्ड धारी,
भोले को भजने से विपता टले ।। बैठे ।।

शीश चंद्रमा करे उजियाला,
तन पे लपेटे हैं मृग की छाला,
"पदम" है जिनके चरणों तले ।। बैठे ।।

-: इति :-


Share:

Saturday, November 24, 2018

Maa Gaura Aur Shiv Ko Naman

माँ गौरा और शिव को नमन बार बार है ।।
नंदी पे चले आओ तेरा इंतजार है ।।

त्रिलोक के देवों में महादेव कहाते,
दानी है महादानी है बरदान लुटाते
तेरी दया हो जिसपे उसका बेड़ा पार है ।। नंदी ।।

कैलाश पे मिलेंगे हिमालय पे मिलेंगे,
दर्शन मेरे भोले के शिवालय में मिलेंगे,
साकार निराकार तू ही ओमकार है ।। नंदी ।।

गौरा ने भंग घोंट के भोले को पिला दी,
मरघट में जाके भोले ने धूनी को लगा ली,
भूतों ने चुड़ैलों ने करी जय जय कार है ।। नंदी ।।

जीवन में क्या करोगे इस दौलत के ढेर का,
चरणों में शिव के पाया खजाना कुबेर का,
ॐ नमः शिवाय जपो यही सार है ।। नंदी ।।


कालों में महाकाल तेरा नाम बड़ा है,
झोली "पदम" की भरदो यह चरणों में पड़ा है,
तेरे बिना अब कौन मेरा मददगार है ।। नंदी ।।

-: इति :-


Share:

Ram ke Rang Leeni mene kori

----- तर्ज :- छाप तिलक सब छीनी तोसे नैना मिलायके -----
फिल्म :-----में तुल्सी तेरे आंगन की -------
,
राम के रंग रंग लीनी रे ,मोरी कोरी चुनरिया ।
राम कृपा जब कीनी रे मोरी कोरी चुनरिया ।।

यह चुनरी मोह माया में फंस गई,
काम क्रोध कांटों में उलझ गई,
तार तार कर दीनी रे ।। मोरी ।।

राम भजन का नशा अजब है,
ऐसा नशा चढ़े तो गजब है,
ऐंसी सुरा हमें पीनी रे ।। मोरी ।।

मैं अज्ञान हूँ निपट अनाड़ी,
राम भरोसे छोड़ दी गाड़ी,
बात "पदम" कह दीनी रे ।। मोरी ।।

-: इति :-


Share:

Kismat Me Jo Likha Hai

------ तर्ज :- एक बेवफा का प्यार लिफाफे में बंद है ------

।। दोहा ।।

माँ गौरा के ललन को नमन बार बार है,
मूषे पे चले आओ तेरा इंतज़ार है

।। भजन ।।

किस्मत में जो लिखा है लिफाफे में बंद है,
गणपत की जो रजा है वह हमको पसंद है ।। किस्मत ।।

सर गज का लगाया था शिव ने गणेश को,
तब से गणेशजी का नाम गजानंद है ।। किस्मत ।।

जीवन में सबको खुशियां बराबर नहीं मिलती,
है कोई गमज़दा तो कोई दर्दे मंद है ।। किस्मत ।।

दर्शन दिखाने गणपति आते हैं हर बरष,
बस इसलिए भक्तों का होषला बुलंद है ।। किस्मत ।।

जो कुछ "पदम" ने लिख दिया मन की आवाज है,
न गीत है गजल है भजन है न छन्द है ।। किस्मत ।।

-: इति :-


Share:

Wednesday, November 14, 2018

Shabri bichari he,prem ki mari he

तर्ज:- अब न छिपाऊँगा सबको बताऊंगा
          तुझको कसम से मैं अपना बनाऊंगा
  फ़िल्म:-,मेरा दिल तेरा आशिक़

 -----।। भजन ।। -----
शबरी बिचारी है, प्रेम की मारी है,
          स्वागत में रघुबर के , सुद बुद्ध बिसारी है,
    लक्ष्मण राजा राम मेरे घर में पधारे ।।

(1)कबसे आस लगाई है,नैनन ज्योत जलाई है,
      रघुनन्दन ने दरश दिए,मन की प्यास बुझाई है
 अब न कोई आशा है,न कोई अभिलाषा है
मेरी कुटिया के बड़े भाग सुहाने हैं, आज प्रभु को मीठे भोग लगाने हैं,
थोड़ा करो विश्राम ।। मेरे घर में पधारे ।।

(2)चख चख मीठे बेर लिए,खट्टे खट्टे फेक दिए,
झूठे मीठे बेर प्रभु,बड़े प्रेम से ग्रहण किये
लक्ष्मण मन सकुचाये,झूठे बेर न खाये
शबरी के आंगन में ,खुशियों का डेरा है,कल तक अंधेरा था अब तो सबेरा है,
कैसे रखूं दिल थाम ।। मेरे घर में पधारे।।

(3)मुश्किल से नरतन पाया,माया में मन भरमाया
सब मतलब के साथी है,कोई काम नही आया
एक जतन करना है,भवसागर तरना है
, "पदम" ने माना है,दो दिन ठिकाना है
रघुवर के चरणों मे,गुणगान गाना है
बिगड़े बनेंगे सब काम ।। मेरे घर में पधारे ।।

-: इति :-




Share:

Tuesday, November 13, 2018

Madiya Pe Ude Re Nishan

------ तर्ज:- हुरिया में उड़े रे गुलाल ------

मड़िया पे उड़े रे निशान,
भुवन बड़ा सोणा लंगदा ।।

ज्योत बाली माता अम्बे, शेर पे बैठी माँ जगदम्बे,
सब का करे कल्याण ।। भुवन ।।

तू ही दुर्गा, तू ही काली, लाल चुनरिया गोटा बाली,
महिमा बड़ी महान ।। भुवन ।।

नौ दिन माँ की ज्योत जालाई, श्रद्धा भाव से भेंट चढ़ाई,
रहा चरणों विच ध्यान ।। भुवन ।।

दाती जब देने पे आये, झोली भी छोटी पड़ जाए,
"पदम" करे गुणगान ।। भुवन ।।

-: इति :-


Share:

Laal Laal Chunari

------ तर्ज:- लाल लाल कुर्ती पे गौरा से बदन -----

लाल लाल चुनरी में मैया को नमन -2
आये तेरे द्वार मैया दे दो दर्शन,
माया के भँवर विच फँस गए हम,
मैया के पहाड़ जाके चढ़ गए हम ।। लाल लाल ।।

पल में फकीरों को अमीर बना देती हो,
पल में अमीरों को फकीर बना देती हो,
तेरी ही रजा में खुश रहे हर दम,
मैया के पहाड़ जाके चढ़ गए हम ।। लाल लाल ।।

अम्बे काली दुर्गे माँ की शेर पे सबारी है,
पाप का सर धड़ से उड़ाने की  तैयारी है,
मैया लेकेअवतार आएगी "पदम",
मैया के पहाड़ जाके चढ़ गए हम ।। लाल लाल ।।

-: इति :-


Share:

Bajrang Ka Dhaam Albela

------ तर्ज :- ऐसी दुपरिया न जाऊं रे डोली ------

बजरंग का धाम अलबेला, लगे भक्ति का मेला,
राम नाम अलबेला, यह है मुक्ति का मेला ।।

कोई कहे बजरंगी आला, कोई कहे अंजनी लाला,
राम को भगत अकेला ।।

सीता राम लखन मन लाई, तुमने छाती फाड़ दिखाई,
खेल अजब तुमने खेला ।।

रावण पूंछ में आग लगाई, तुमने उसकी लंका जलाई,
नहले पे पड़ गया दहला ।।

हनुमत के गुण गाओ प्राणी, "पदम" यही सन्तों की बाणी,
जग है झूठा झमेला ।।

-: इति:-


Share:

Shyam Bade Chalbaliya

श्याम बड़े छलबलिया में कैसी करूं,
बैरन हो गयी मुरलिया में कैसी करूं ।।

क्यों ज़ुल्मी संग प्रीत लगाई,
पकरन चाही में पकर न पाई,
दे गये छील विलैंया ।।

प्रीत लगाके नाता जोड़ा,
चूड़ी तोड़ी, कंगन तोड़ा,
तोड़ी नरम कलैया ।।

इस छलिया की कोन निशानी,
दुनिया जिसकी प्रेम दीवानी,
इनमें एकऊ नैंया ।।

राधे मौहन की जोड़ी आला,
"पदम" वो ही सबका रखवाला,
दुनिया भूल भुलैंया ।।

-: इति :-



Share:

Saturday, November 10, 2018

Lagao Na Der Hanuman Re

लगाओ न देर हनुमान रे, बूटी लाना पहचान रे,
कहीं निकल न जाये - 2, मेरे लक्ष्मण के प्राण रे,
घायल हुए -2, लगे शक्ति के बाण रे ।। लगाओ ।।

द्रोणागिरी पर्बत पे जाऊंगा में,
बूटी संजीवन को लाऊंगा में,
श्री राम रोते बिलखते रहे,
रो रो कर हनुमत से कहते रहे ।। कहीं निकल ।।

जैसे ही पर्बत पे पहुंचे बलि,
चहुँ और बूटी चमकती मिली,
पर्बत उठाकर बलि चल दिये,
धरा पर गिरे तब भरत मिल गए,
भरत ने कहा सखा जल्दी करो,
लखन लाल की जाए विपता हरो ।। कहीं निकल ।।

मांगी बिदा फिर पवन सूत चले,
सभी राम दल में थे व्याकुल बड़े,
जो लाके दी बूटी अचरज हुआ,
"पदम" राम के मन को धीरज हुआ ।।

-: इति :-


Share:

Shree Vishwakarma Bhagwan Kiya Hai Jan Kalyan

----- तर्ज:- मेरे बांके बिहारी लाल तू इतना न करियो श्रृंगार , नज़र तोहे लग जायेगी -----

श्री विश्वकर्मा भगवान 
किया है जनजन का  कल्याण
तुम्हारी जय जय हो ।। देवा रे ।।

काष्ट कला के तुम निर्माता,
लोह युग के तुम भाग्य विधाता,
दिया भुवन विधि का ज्ञान ।। किया है ।।

भांति भांति औजार बनाये,
हर तकनीक धरा पर लाये,
किया मुश्किल को आसान ।। किया है ।।

हम सबका जीवन सुख दाई,
तरह तरह की मशीन बनाई,
देवा तुम हो बड़े महान ।। किया है ।।
दिये खेती के सामान ।। किया है ।।

मन मंदिर में तुम्हें बिठालूं,
गीतों की माला पहना दूं,
यह "पदम" करे गुणगान ।। किया है ।।

-: इति :- 



Share:

Sone Ki Lanka Jalaay Dayi Re

----- तर्ज:- ऐसी दुपरिया न जाऊं रे ----

 सोने की लंका जलाय दई रे,
बीर बजरंगबली ने ||
रावण की लुटिया डूबाये दई रे,
बीर बजरंगबली ने ||

राम नाम द्वारे पे लिखा है,
मात सिया का पता मिला है,
विभीषण की कुटिया बचाय दई || बीर ||

शक्ति बाण लगे लक्ष्मण को,
रघुवर चैन पड़े नहीं मन को,
बूटी संजीवन को लाय दई रे || बीर ||

एक लाख पूत, सवा लख नाती,
कौन जलाय अब दीपक बाती,
"पदम्" की बिगड़ी बनाय दई || बीर ||

-: इति :-


Share:

Saturday, November 3, 2018

Shiv Japo Sundaram

शिव जपो सुन्दरम, शिव भजो सुन्दरम
सुन्दरम है शिवम्, है शिवम् सुन्दरम ||

शिव है काशी पुरम, शिव है रामेश्वरम,
शिव है त्रयम्बकं, शिव है नागेश्वरम ,
शिव अमावश पूनम, शिव करे मंगलम || सुन्दरम ||

शिव है धरती गगन, शिव है गंगा जमन,
शिव है पूजन भजन, शिव है गीता वचन,
शिव का हो वन्दनं, शिव का हो स्वागतम || सुन्दरम ||

शिव है जीवन मरण, शिव है अन्तः करण,
शिव है तारण तरण, शिव है चिंता हरण,
शिव है रहमोकरम, शिव दया और धरम || सुन्दरम ||

शिव ही दिगपाल है, शिव ही बेताल है,
शिव है कलिकाल है, शिव महाकाल हे ,
शिव है नारायणम, शिव हो पूरण ब्रह्म || सुन्दरम ||

शिव ही घनश्याम है, शिव ही बलराम है,
शिव परसराम है, शिव श्री राम है,
शिव शरण में "पदम्" रहूँ जन्मो जनम || सुन्दरम ||

-: इति :- 



Share:

Thursday, November 1, 2018

Dina Raina Japo Re

----- तर्ज:- तेरे नैना बड़े दगाबाज रे -----

दिन रैना जपो रे
जिंदगी में लगे है बहुत काम रे || दिना ||

दो दिन बचपन है, दो दिन जबानी है, इसी पर तू इतरायेगा
माया भी रूठेगी, काया भी छूटेगी, जिस दिन बुढ़ापा आयेगा
आज आया नहीं तो काल आयेगा,
मौत का नाम सुनकर तू घबराएगा || जिंदगी ||

दिन का मेला है, झूठा झमेला है, तू न समझ पायेगा
दिन का सपना है, कोई न अपना है "पदम्" अकेला जायेगा
साधू संतों की बाणी का मान रखले,
राम सीता के चरणों का ध्यान करले || जिंदगी ||

-: इति :- 


Share:

Sombaare Ki Maiya

----- तर्ज : - पारबती तारो सैयां री, में देख आईं गुइयाँ  ||हाँ || -----

काली घाट की मैया री, में देख आईं गुइयाँ || हाँ ||

मंदिर बनो है तला किनारे,
तला में ठंडी उड़त फुहारे,
बहुतई ऊँचो शिखर बनो है,
शिखर पे लालई झंडा लगो है,
बैठे हैं जाप करैया री || में देख आईं गुइयाँ || हाँ ||

टी. टी. नगर को माता मंदिर,
बहुत पुरानो बहुत ही सुन्दर,
माता मंदिर की मैया री || में देख आईं गुइयाँ || हाँ ||

सड़क किनारे मंदिर बनो है,
टी. वी फ्रिज को बजार घनो है,
हमीदिया रोड की मैया री || में देख आईं गुइयाँ || हाँ ||

शीतला माँ को मंदिर सुहानो,
बगल में बनो है पुलिस को थानो,
टीले की कैला मैया री || में देख आईं गुइयाँ || हाँ ||

सोम्बारे की मैया री, में देख आई गुइयाँ || हाँ ||
कर्फ्यू बाली मैया री, में देख आई गुइयाँ || हाँ ||

पीर गेट के द्वार गिरा दयो,
सोमबारा फिर नाम धरा दयो
बब्बर शेर की करके सबारी,
दुर्गा देती आन पधारी

दुर्गा दैवी से लेने पंगा,
आये बिरोधी हो गया दंगा,
पुलिस कलेक्टर मिनिस्टर आ गए,
सोम्बारे में कर्फ्यू लगा गए
खूब भयो थो धमैयारी || में देख आई गुइयाँ || हाँ ||

मैया ने जब आँखें खोली,
पीर गेट की धरती डोली,
सारे झगड़े खतम हो गए,
दुश्मन भी फिर नरम हो गए,
मंदिर का निर्माण हुआ है,
कर्फ्यू बाली मात कहानी,
अमर रहेगी "पदम्" कहानी,
पार करे सबकी नैया री || में देख आई गुइयाँ || हाँ ||

श्रावण के सोमबार को भारी
मेला पहुंचे नर नारी,
न्योरी की पारबती मैया री || मैं देख आई गुइयाँ || हाँ ||

मिर्ची धनिया थोक विकत है,
उतई पे डिस्पोजल भी मिलत है,
आजाद मार्केट की मैया री || मै देख आई गुइयाँ || हाँ ||

सबसे पुरानी सबसे बढ़िया,
जवाहर चौक की माता माड़िया,
जनकपुरी की मैया री || मैं देख आई गुइयाँ || हाँ ||

काजी कैम्प सिन्धी कालोनी,
रथ पर बैठी मात भवानी,
"पदम्" पड़े उनके पैयां री || मैं देख आई गुइयाँ || हाँ ||

-: इति :-


Share:

Shree Ram Ka Pehle Sumiran Karo

----- तर्ज:- पल पल न माने -----

श्री राम का पहले सुमरण करो,
नए वर्ष का अभिनन्दन करो ||

जैसे गयी रात आया सबेरा - 2 
बारह गयी साल आई है तेरा - 2 
बीरों, शहीदों को बंदन करो - 2 || नए ||

दो दिन का बचपन है, दो दिन जबानी - 2
हमको सिखाती है तुलसी की बाड़ी - 2
हरी कीर्तन मन समर्पण करो - 2 || नए ||

सतकर्म से दूर होगा अँधेरा - 2
जग में नहीं कोई तेरा न मेरा - 2
दया धर्म की ज्योत रोशन करो - 2 || नए ||

मंगल के दिन यह नया वर्ष आया - 2
सबका हो मंगल यह सन्देश लाया - 2
"पदम्" पवनसुत का दर्शन करो - 2 || नए ||

-: इति :-



Share:

Thursday, October 11, 2018

M.P Ki badi pyari Rajdhani

एम.पी की बड़ी प्यारी राजधानी लागे - 2 मस्तानी लागे - 2
माणों  मीठा मीठा बड़े तला का पानी लागे,
बड़ा मीठा मीठा बड़े तला का पानी लागे 

बीच तला में फब्बारों की उड़त है रोज फुहार,
रंग बिरंगी देख रौशनी ख़ुशी होय नर नार,
वी. आई. पी से ऐरोड्रम आसानी लागे - 2 || माणों ||

छोटे तला में कमला पति का महल बना है ख़ास,
कमला पारक बहुत पुराना बना महल के पास,
जामें चंपा चमेली रात रानी लागे - 2 || माणों ||

वन विहार में जीव जंतु की फैली है जागीर,
सैर सपाटे से बड़े तला की बदल गई तस्बीर,
भदभदे के चारों ओर ऋतू सुहानी लागे - 2 || माणों ||

राजा भोजपाल से इसका नाम पड़ा भोपाल,
मूरत भोजपाल की रखदी शहर हुआ खुशहाल,
शिवराज के शासन की कदरदानी लागे - 2 || माणों ||

जल प्रदाय  में कमी पड़ी तो मच गयी हा हा कार,
बड़े कठिन प्रयास किये थे तब लाये कोलार,
अब तो घर घर नर्मदा की अगवानी लागे - 2 || माणों ||

कमला पारक रोड़ पे हर दम रहती भीड़म भाड़,
तला किनारे भोज सेतु का  अजब किया निर्माण,
यह तो शहर का विकास बड़ा तूफानी लागे - 2 || माणों ||

हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई "पदम्" है रहते साथ,
देत त्योहारों पे बधाई और मुबारिक बाद,
यह तो परंपरा भोपाल की पुरानी लागे - 2 || माणों ||

-: इति :-




Share:

Sunday, September 30, 2018

Shiv Ke Pyare Ganesh

----- तर्ज़:-मेरे रशके कँवर तूने पहली नज़र -----

 !!भजन!!

शिव के प्यारे गणेश,काटो बिघ्न क्लेश,
मेरे अंगना पधारो,में तर जाऊंगा।।
एक दया की नज़र,आप करदो इधर,
मेरी बिगड़ी सुधारो, में तर जाऊंगा।।

(१)रिद्धि सिद्धि के दाता कहें आपको,
     ज्ञान बुद्धि बिधाता कहें आपको।
करके मूषे सबारी चले आइये,
मेरा नर तन सबारो में तर जाऊंगा।।

(२)चार मोदक के लड्डू चढ़ाये तुम्हें,
     सारे देवों से पहले मनाएं तुम्हें।
नाम सिमरन करें,शीश चरनन धरें,
पार भव से उतारो,में तर जाऊंगा।।

(३)आपके दर पे जो भी सबाली गया,
   आज तक कोई दर से न खाली गया।
में हूं पापी अधम,है शरण मे "पदम"
गीत मेरे निहारो,में तर जाऊंगा।।

   ।।इति।।


Share:

Maa Ka Dar Choom Kar

 -----तर्ज़:-मेरे रशके कवर,तूने पहली नज़र -----

  !!भजन!!

माँ का दर चूम कर,सारे ग़म भूल कर।
मेने अर्जी लगाई,मज़ा आ गया।।
दर बदर घूम कर,मैया के द्वार पर,
मेने झोली फैलाई,मज़ा आ गया।।

(१)सिंह पर बैठ कर माँ भवानी चली,
     दुष्ट दानव पे माँ की दुधारी चली।
रण में संघार कर,दुष्टों को मार कर,
मुंडमाला बनाई,मज़ा आ गया।।

(२)माँ की कृपा के बादल बरस जाएंगे,
    सबके बिगड़े मुकद्दर सवर  जाएंगे।
बात बन जाएगी,झोली भर जाएगी,
माँ से आशा लगाई,मज़ा आ गया।।

(३)आसरा इस जहां का मिले न मिले,
 माँ के दर पे "पदम" को ठिकाना मिले।
आ गए द्वार माँ, कर दो उपकार माँ,
माँ की महिमा को गाई, मज़ा आ गया।।

  ।।इति।।


Share:

Gaura ne pees kar,ghaut kar

----- तर्ज़:-मेरे रश्के कँवर,तूने पहली नज़र -----

 !!भजन!!

गौरा ने पीस कर,घोंट कर छान कर,
शिव को भंगिया पिलाई,मज़ा आ गया।।
छोड़ कैलाश को पहुंचे शमशान में,
गांजे की दम लगाई,मज़ा आ गया।।

(१)जब नशा भांग गांजे का चड़ने लगा,
     भोला नचने लगे डमरू बजने लगा।
जल चुकीं थीं चिताएं जो शमशान में,
उनकी भस्मी लगाई,मज़ा आ गया।।

(२)वदी फागुन चतुर्दश तिथि आई है,
शिव से गौरा मिलन की घड़ी आयी है।
शिवजी दूल्हा बने ,गौरा दुल्हन बनी,
शिव ने शादी रचाई,मज़ा आ गया।।

(३)भोला धनवान हैं ना तो कंगाल हैं,
शिव महादेव हैं शिव महाकाल हैं।
शिव के चरणों मे हम,आ गए है"पदम"
राह मुक्ति की पाई, मज़ा आ गया।।

   ।।इति।।


Share:

Contributors

Shri ram ka pahle sumran kro

            तर्ज़:-पल पल न माने टिंकू जिया            फ़िल्म:-यमला पगला दीवाना                   *  राम जी का भजन*      श्री राम का पहले सुमरन...