Monday, July 30, 2018

Luv Kush Dev Ki Aarti (Audio)

Luv Kush Dev Ki Aarti (Audio)

Listen & Download

Download Here :- Download

Listen :-





Share:

Gau Mata Ki Aarti (Audio)

Gaumata Ki Aarti (Audio Mp3)

Listen & Download

Download Here :- Download






Share:

Aaya Janamdin Bitiya Tumhara

------ तर्ज:स्वर्ग से सुंदर, सपनो से प्यारा,है अपना घर द्वार ------

आया जनम दिन,बिटिया तुम्हारा,जुड़ा कुटुम परिवार।
तुम पर रहे बरसता यूँ ही,मात
पिता का प्यार ।।
उदय हो भाग्य तुम्हारा । यह आशीर्वाद हमारा ।।

1,बाबुल के आंगन में,बिटिया का बचपन खेला,माता के आंचल की,छैया में सुख दुख
झेला।।
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, यही है एक अधार।।
उदय हो भाग्य तुम्हारा,,,,,,,,,

2,रूप रंग बिटिया का,सब देख भये मतबारे, नज़र नही लग जाये,नेना कर दये कजरारे ।।
दीप जला कर करी आरती,बहना करे दुलार।।उदय होभाग्य तुम्हारा,,,,,,,,,,

3,राम करेंगे पूरी,हर आशा तेरे मन की,फुलवारी महकेगी, बिटिया तेरे जीवन की।।
रानी बन कर राज करोगी,स्वर्ग बने घर द्वार ।।
उदय हो भाग्य तुम्हारा,,,,,,,,,

4,मामा मामी आये,ऒर दादा दादी आये,बिटिया की राहो में,चुन चुन कर फूल बिछाये ।
Happy Birthday to you  सबने,गाया बारंबार।।
उदय हो भाग्य तुम्हारा,,,,,,,,

पूनम के चंदा सी,चमके तकदीर तुम्हारी,,
"पदम"कहे बिटिया को,लग जाये उमर हमारी ।।
तेरे नाम का डंका बाजे, गली गली हर द्वार।।
उदय हो भाग्य तुम्हारा ।यह आशीर्वाद हमारा।।

             ।। इति ।।


Share:

Kanha Murli Bajado

------ तर्ज:-मंदिर से दौड़ी चली आउंगी, कोई दिल से पुकारे ------

पनघट से दौड़ी चली आउंगी,
कान्हा मुरली बजादे,,,,,
मधुवन में रास रचाऊंगी,
कान्हा मुरली बजादे,,,,

(१)श्याम सुंदर से लागे नैना,
तुम बिन हमको चैन पड़े ना,
तुम संग प्रीत निभाउंगी ।।
कान्हा मुरली,,,,,,,,,

(२)नन्दलला की सावरी सूरत
चंचल चितवन मोहिनी मूरत,
माखन मिश्री खिलाऊँगी।।
कान्हा मुरली,,,

(३)तुमने मुरली मधुर बजाई,
तन मन की मेने सुध बिसराई,
पीर जिया की दिखाऊँगी।।
कान्हा मुरली,,,,,,,

(४)श्याम पिया का मिले जो  दर्शन,
"पदम"ने जीवन कर दिया अर्पण,
मन मन्दिर में बिठाउगी।।
कान्हा मुरली ,,,,,,,,,,,

       ।।इति।।


Share:

Saturday, July 28, 2018

Sunke Pukaar Maa Chali Aaiyo

------ तर्ज:- इश्क और प्यार का मजा लीजिये ------

सुनके पुकार माँ चली आइयो,
सिंह पे सवार माँ चली आइयो,
होगा उपकार माँ चली आइयो || सिंह पे सवार माँ चली आइयो ||

देख कर भी मौन है जमीन आसमां,
पाप अत्याचार की लिख रहे हैं दास्ताँ || लेके तलवार माँ चली आइयो ||

हर गली के मोड़ पर रक्त बीज हो गए,
 जग रहा अधर्म है धर्म राज सो गए || छाया अन्धकार माँ चली आइयो ||

आज कामधेनु को लोग काटने लगे,
दूध पीने की जगह चारा चाटने लगे || नैया मझधार माँ चली आइयो ||

माँ के पूजा पाठ की हम न जाने साधना,
माँ "पदम्" को तार दो इतनी सी है प्रार्थना || करलो स्वीकार माँ चली आइयो ||

करते इन्तजार माँ चली आइयो,
भरने भन्डार माँ चली आइयो,
करने उद्धार माँ चली आइयो,
बेड़ा करो पार माँ चली आईयो ||

-: इति :-


Share:

Mor Nachat Tore Angna Me

तौरे ऊंचे भुवन बने मात भवानी,
मौर नचत तोरे अंगना में ||

माँ के मंदिर में कंचन कलश धरे,
 बहाँ चन्दन के जड़े है किबाड़ भबानी || मौर ||

तोरे मंदिर में नोवत बाज रही,
शंख झालर बजे खड़ताल भबानी || मौर ||

बैठी अटल सिंहासन जगदम्बे,
ओढ़े चुनरी माँ गोटेदार भवानी || मौर ||

माँ के मस्तक पे बिंदिया दमक रही,
गले मोतियन की माला डार भवानी || मौर ||

कान कुंडल में हीरा चमक रहे,
सोहे सोने के कंगन हाथ भवानी || मौर ||

पाँव पैंजनिया क्षम छम बाज रही,
बहे चरणों से अमृत की धार भवानी || मौर ||

ध्यान पूजन "पदम्" न जानत है,
करूं कैसे तुम्हारो सिंगार भवानी || मौर ||

-: इति :-


Share:

Tujhe Tere Laal Bulaate Hain

------ तर्ज:- आ लौट के आजा मेरे मीत ------
------ फिल्म:- रानी रूपमती ------

आ शेर पे आजा मेरी माँ, तुझे तेरे लाल बुलाते हैं,
मैया भक्तों को करदे निहाल, तुझे तेरे लाल बुलाते हैं ||

चोला है लाल माँ की मेहँदी है लाल,
माँ ने ओढ़ी है लाल चुनरिया,
बिंदिया भी लाल माँ के बिछिया भी लाल,
लाल उन्ग्रिन में दमके मुदरिया,
तेरी माड़िया बनी है विशाल || तुझे ||

धरती गगन यह रवि की तपन,
माँ से रोशन हैं चंदा सितारे,
जल थल गगन चले शीतल पवन,
मेरी मैया करे जब इशारे,
तेरी शरण रहे महाकाल || तुझे ||

निर्बल को बल मिले, निर्गुण को गुण,
मेरी मैया के दर जो गया है,
व्याकुल "पदम्" न करो कोई गम,
माँ भवानी की की जब तक दया है,
हुए निर्धन माला माल || तुझे  ||

-: इति :-


Share:

Choti Si Maiya Badi Hai Dayal

------ तर्ज:- छोटी छोटी गऊयें छोटे छोटे ग्वाल ------

छोटे छोटे पंडा, छोटे छोटे लाल,
छोटी सी मैया बड़ी है दयाल ||

झंडा लाये पंडा, नरियल लाये लाल,
बैठी है मैया बड़ी है दयाल ||

साड़ी लाये पंडा, चूनर लाये लाल,
ओढ़ेगी मैया बड़ी है दयाल ||

हलुआ लाये पंडा, पूड़ी लाये लाल,
जीमेगी मैया बड़ी है दयाल ||

चूड़ी लाये पंडा, कंगन लाये लाल,
पहनेगी मैया बड़ी है दयाल ||

झांझ बजाये पंडा, ढोल बजाये लाल,
नाचेगी मैया बड़ी है दयाल ||

झूला लाये पंडा, डोरी लाये लाल,
झूलेगी मैया बड़ी है दयाल ||

बाड़ी बोये पंडा भेंटें गाये लाल,
"पदम्" सुमर मैया बड़ी है दयाल ||

-: इति :-


Share:

Maiya To Aaegi

------ तर्ज:- सुनो ससुरजी अब जिद छोड़ो ------
------ फिल्म :- दूल्हा राजा ------

सुनो ससुरजी घुट्टन खेलो, मान लो मेरी बात,
मैया तो जाएगी नगरे बाबा के साथ ||

जंगल के राजा तुमसे विनती हमारी है,
मैया को लेके आजा तेरी बलिहारी है,
देर न करना बीत न जाए जगराते की रात || मैया ||

माँ अपने भक्तों की रग रग पहचानती है,
किसके ह्रदय में क्या क्या है मैया सब जानती है,
ललन तुम्हारे द्वार पे बैठे जोड़ रहे हैं हाथ || मैया ||

कैला मैया जब देती होक दयाल देती,
निर्धन को माल देती, गोदी में लाल देती,
खोल भंडारे बांटती मैया कृपा का प्रसाद || मैया ||

दुखियारे दूर दूर से आते हैं द्वार माँ,
जो भी श्रद्धा से लाते करती स्वीकार माँ,
माई चरण में "पदम्" चढ़ादो भजनों की सौगात || मैया ||

-: इति :-



Share:

Friday, July 27, 2018

Maiya Aa Gaya Tera Laal

------ तर्ज:- अल्लाह यह अदा कैसी है ------
------ फिल्म:- मेरे हम दम मेरे दोस्त ------

मैया आ गया तेरा लाल तेरे चरणों में,
तेरे बिन कौन है मेरा अपनों में || मैया ||

दिन गुजरता है रात आती है,
तेरी ममता की याद आती है,
एक झलक ही दिखादो माँ सपनों में || मैया ||

एक अभिलाषा मेरे जीवन की,
कल घड़ी आये तेरे दर्शन की,
तेरी सूरत बसी मेरे नयनों में || मैया ||

जब तलक तन में सांस बाकी है,
बस "पदम्" की यह आस बाकी है,
बीते सारी उम्र माँ के भजनों में || मैया ||

-: इति :-


Share:

Monday, July 23, 2018

Lago Nau Din Ko Mela

------ तर्ज:- दे दो दरस महारानी रे "जस" ------

आई है पूजा की बेला रे,
 लगो  नौ दिन को मेला || लगो ||

पंडा पुजारी ने बो दये जवारे,
मड़ में बजें नित ढोल नगाड़े,
ज्योत जलाये बुंदेला रे || लगे ||

तुमरे द्वार पे भीड़ लगी है,
जगमग ज्योत अखंड जगी है,
हो रही रेलम रेला रे || लगो ||

माई को नरियल निबुआ चड़त है,
आठ दीप नौ खंड पुजत है,
कोई चड़ा रहो है केला रे || लगो ||

चौसठ योगिनी आरती गायें,
भैरो द्वार पे शंख बजाये,
अंगना में लांगुर खेला रे || लगो ||

मैया के जस हिल मिल गाओ,
"पदम्" चरण में बलि बलि जाओ,
दुनिया है झूठा झमेला रे || लगो ||

-: इति :-


Share:

Maayi Vaishno Ke Dware

------ तर्ज:- देव मोगरा, कली में भैरों "जस" ------

माई वैष्णों के द्वारे भैरों जम गयो रे,
माई बैठी करे श्रृंगार || माई वैष्णों ||
माई मेरी सुनलो पुकार || माई वैष्णों ||

ब्याह रचाने भैरों हुआ तैयार,
छिपत फिरे मैया जंगल पहाड़,
मच गया हाहाकार || माई ||

माँ ने चतुर्भुज रूप धरो,
भैरों जाए मैया की शरण पड़ो,
दये अपराध बिसार || माई ||

मैया जी भैरों को दिया वरदान,
ऊंचे पहाड़ पे दिया स्थान,
भैरों की भई जयकार || माई ||

"पदम्" सुमर जस गा लइयो,
मैया जी शरण बिठा लइयो,
कर दइयो उद्धार || माई ||

-: इति:-


Share:

Tumso Koi Naiya

------ तर्ज:- ठुमक ठुमक मैया आ जइयो "जस"------
------ आई है पूजा की बेला रे ------

बीजासेन की मैया रे, तुम सो कोई नैंया - 2
हाँ हाँ रे तुमसो कोई नैंया ||

बीजासेन को नाम बड़ो है,
सलकनपुर स्थान चुनों है,
पीपल की ठंडी छैयां रे || तुमसो ||

गनपत को द्वारे बैठारो,
शिव शंकर करे ध्यान तुम्हारो,
गौरा लेत बलैयां रे || तुमसो ||

हनुमन लाल ध्वजा फेहराये,
भैरों भैरवीं नाचे गायें,
खेलत छील विलैयां रे || तुमसो ||

मैया सबकी झोली भारती,
मन की आशा पूरी करती,
"पदम्" पड़े तोरे पैयां रे || तुमसो ||

-: इति :-


Share:

Maayi Beejsen Jagtarini Ho

------ तर्ज:- राजा करन दानी भये हो माँ "जस" ------

माई बीसेन जगतारिणी हो माँ,
मैया देओ सबको वरदान - हो मेरी मैया महारानी,
तुम सो दानी न मिले हो माँ || माई ||

एक अँधा द्वारे खड़ो हो माँ,
मैया देओ नैनन को दान, हो मेरी मैया महारानी || तुमसो ||

एक बाँझन द्वारे खड़ी हो माँ,
मैया देओ लालन को दान, हो मैया महारानी || तुमसो ||

मैया एक कन्या द्वारे खड़ी हो माँ,
मैया देओ वर को वरदान, हो मैया महारानी || तुमसो ||

मैया एक कोड़ी द्वारे खड़ो हो माँ,
मैया देओ काया को दान, हो मैया महारानी || तुमसो ||

मैया "पदम्" तोरे द्वारे खड़ो हो माँ,
मैया देओ देवा को दान, हो मैया महारानी || तुमसो ||

-: इति :-


Share:

Thursday, July 19, 2018

Daanav Maaran Chali Re

------ तर्ज:- घर घर टेरत फिरत बुलउआ "जस" ------

दानव में दुष्टों का वध करने,
शेर पे चली सवार हो माँ ||

महिसा को पकड़ के मैया,
भूमि दयो है दार हो माँ ||

चंड मुंड के मुंड काट दये,
पहने मुंडन हार हो माँ ||

लप लप जीभ निकाले मैया,
भय गयो हा हा कार हो माँ ||

लहू के भर भर खप्पर पी गयी,
रक्तबीज दये मार हो माँ ||

देख विनाश को राह में लेटे,
शिव शम्भू करतार हो माँ ||

"पदम्" सुमर मैया तोरे जस गावें,
बिगड़ी देओ सवांर हो माँ ||

-: इति :-


Share:

Contributors

Follow by Email