Tuesday, August 28, 2018

Kaise Mile Hamre Saiyaan

कैसे मिले हमरे सैंया बताओ गुइयां,

पकरन चाही मैं पकर न पायी,
दे गए छील विलैयां || बताओ ||

वाघर की मैं जानत नैया,
कैसे धरूं दोई पैयां || बताओ ||

तेरे बलम की कौन निशानी,
इनमें एकउ नैयां || बताओ ||

जब से गए तो अब घर आये,
हो गए मूड़ हिलैयां || बताओ ||

"पदम" कहत हैं सुन भई रसिया,
जा सुधरन की नैया || बताओ ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives