Friday, May 18, 2018

Ambe Aajana

------ तर्ज:- मैं तो दीवाना भोले का दीवाना ------

अम्बे आजा....ना, जगदम्बे आ जाना,
आ जाना अम्बे आजा..ना, जगदम्बे आ जाना,
आजाना आजाना आजाना आजाना,
आजाना आजाना आजाना आजाना नाना ना नाना ना ना || अम्बे ||

आ जाना शेर सवारी, देखें सब राह तुम्हारी,
तेरे चरणों के पुजारी, सुनो मान विनती हमारी,
नैया मझधार पड़ी है, विपता बहुत बड़ी है,
कोई दीखे न किनारा, इसलिये तुमको पुकारा ||

माना हम बच्चे नहीं हैं, फिर भी कुछ अच्छे नहीं हैं,
सत्य आता नहीं हमको, झूठ भाता नहीं हमको,
ध्यान चरणों में लगेगा, तभी तो काम बनेगा,
माँ हमें राह दिखाना, लगे ठोकर तो उठाना ||

माँ को घर घर में तलाश, हर एक मंदिर में तलाश,
कहाँ रहती हो बता दो, कोई तो माँ का पता दो,
उन्हें एक चिठिया लिखूंगा, पहले प्रणाम करूँगा, 
सबकी नज़रों से गिरा हूँ, मोहमाया में घिरा हूँ ||



Share:

Sunday, May 13, 2018

Man Mandir Me Aa Jao

------ तर्ज:- तुम दिल की धड़कन में ------
 ------फिल्म :- धड़कन------

तुम मेरे सपनन में, रहती हो रहती हो,
मन मंदिर में आजाओ, ज्ञान का दीप जला जाओ || तुम ||

तुम दुर्गा महारानी हो, जग जननी कल्याणी हो,
काली हो, महाकाली हो, शक्ति रूप भवानी हो,
जन जन के जीवन में रहती हो, रहती हो || मन ||

भक्तजानों को तार दिया, दुष्टों का संहार किया,
जब धरती पर पाप बढ़ा, माँ तुमने अवतार लिया,
धरती के कण कण में रहती हो रहती हो || मन ||

द्वार मिले दरबार मिले मैया का दीदार मिले,
"पदम्" को कुछ भी चाह नहीं माँ का हर दम प्यार मिले,
ममता के बंधन में रहती हो रहती हो || मन ||

-: इति :- 


Share:

Maal Khazana Mil Gaya

------ तर्ज:- लाल दुपट्टा उड़ गया ------
------ फिल्म:- मुझसे शादी करोगी ------

माल खज़ाना मिल गया मुझे माई के चरणों से,
माँ के चरण की धुल मिली तो, लागाली नयनों से,
अधम हूँ जान लेगी वह, मगर मुझे तार देगी वह || माल ||

ऊंचे ऊंचे पर्वत पे माँ खोल दुअरिया बैठी है,
अपने ललन के दुःख हरने माँ ओढ़ चुनरिया बैठी है,
माँ शेरावाली जय अम्बे, माँ ज्योति वाली जगदम्बे,
मैया का जयकारा गूंजे बहते झरनों से || माँ के ||

लाल तुम्हारे द्वार खड़े हैं, थोड़ी कृपा कर दो माँ,
आस लगाकर आये हैं माँ, अब तो झोली भर दो माँ,
एक द्वार चाहिए मैया का, हमें प्यार चाहिए मैया का,
माँ बेटे का अमर है नाता सुना है अपनों से || माँ के ||

मैया का दीदार मिलेगा मैया जी को भजने से,
जीवन में सुख चैन मिलेगा माँ की सेवा करने से,
माँ मेहरा वाली दुःख हरनी, माँ नैना वाली सुख करनी,
"पदम्" चलो मैया को मानलो अपने भजनों से || माँ के ||

-: इति :- 



Share:

Wednesday, May 9, 2018

Matwaale Gun Gaale Meri Miya Ke

------ तर्ज:- कजरारे-2 तेरे कारे कारे नैना ------
------ फिल्म:- बंटी और बबली ------

माता के गर्भ में किया वादों को याद कर,
दर दर भटक रहा है आजा माँ के द्वार पर,
मतवाले गुण गाले मेरी मैया के दिन रैना,
दिन रैना दिन रैना मैया को भजते रहना ||

तेरा ज्ञान ध्यान सब छूता, भक्ति में मन लगाले,
नादान यह रिश्ते नाते, कुछ काम न आने वाले,
हो...द्वार मैया का न छूटे तू आजा || मतवाले ||

पापों को मिटाने के लिए मैया का अवतार होता है,
मैया के गुणगान गाने से, भक्तों का उद्धार होता है,
माँ की माया किसी ने भी जानी नहीं,
माता रानी सा कोई भी दानी नहीं,
द्वार मैया का न छूटे तू आजा || मतवाले ||

मैया के जो द्वार जाते हैं, मुँह मांगी मुरादें पाते हैं,
राजा रंक सब हैं बराबर, झोलियाँ भर भर के लाते हैं,
कभी दुर्गा भवानी माँ काली बनी,
निर्धन को धन देने वाली बनी,
हो.....द्वार मैया का न छूटे तू आजा || मतवाले ||

तुमको मैंने पुकारा अम्बे माँ, मुझको दे दो सहारा अम्बे माँ 
तेरे चरणों में "पदम्" बैठा है अब न दिखे किनारा अम्बे माँ 

हो हो काली खप्पर वाली को याद करके,
तेरे लाले जगराते में भजन गाते हैं,
आओ अम्बे माँ के चरणों में प्रणाम करलें,
अपनी जिंदगानी मैया जी के नाम करलें,
मेरी माता दयाल
है करती निहाल
आजावे आजावे आजा रे,
मतवाले गुण गले मेरी मैया के दिन रैना 

-: इति :-


Share:

Bohot Door Maa Ka Thikana Mila Hai

------ तर्ज:- मुझे प्यार की ज़िन्दगी ------
------ फिल्म:- प्यार का सागर ------

बहुत दूर माँ का ठिकाना मिला है,
पहाड़ियों पे मंदिर सुहाना मिला है ||

मिली मोह माया वहीं छोड़ आया,
यह रिश्तों के बंधन सभी तोड़ आया,
शरण में तुम्हारी ज़माना मिला है || बहुत ||

नहीं लालसा है मुझे माल धन की,
ज़रा सी मिले रज माँ तुम्हारे चरण की,
मुझे मांगने का बहाना मिला है || बहुत ||

यह अनमोल जीवन न बर्बाद करना,
घड़ी दो घड़ी माई को याद करना,
हर एक जीव को आना जाना लिखा है || बहुत ||

यह मैया किसी की है बिगड़ी बनाती,
किसी को उठाती किसी को गिराती,
"पदम्" को दया का खजाना मिला है || बहुत ||

-: इति :-



Share:

Suhana Maiya Ka Lagta Hai Darbar

------ तर्ज:- दीवाना राधे का ------

सुहाना मैया का - 2 लगता है दरबार,
लांगुरिया नच ले रे - 2 कैला म के द्वार || सुहाना ||

सुन्दर भुवन बने, कंचन कलश धरे, लाल ध्वजा लहराए रे,
मेहँदी है लाल लाल, बिंदिया है लाल लाल, लाल चूनर मनभाई रे,
बिछिया है लाल लाल, चूड़ियाँ हैं लाल, लाल करे श्रृंगार  || सुहाना ||

दीन की लाज रखे, विपता को दूर करे, मैया की सिंह सवारी रे,
गोदी को लाल मिले, निर्धन को माल मिले, लीला अजब तुम्हारी रे,
माँ बेड़ा पार करे, सब का उद्धार करे सबके भरे भण्डार || सुहाना ||

मैया जी को भजते हैं, जय जयकार करते हैं, द्वार खड़े नर नारी रे,
चरणों में ध्यान धरें, माँ का गुणगान करें, पंडित और पुजारी रे,
मैया जी की राह में, दर्शन की चाह में, "पदम्" लगाये गुहार || सुहाना ||

-: इति :- 


Share:

Monday, May 7, 2018

Maiya Bhuvna Tumhaar

------ तर्ज:- स्वांग ------

मैया भुवना तुम्हार आल्हा ने झंडा गड़ा दये,
मैया अंगना तुम्हार आल्हा ने झंडा गड़ा दये ||

दिन मैया की ज्योति जलाई, नारियल निबुआ की भेंट चड़ायी,
हमरी सुनियो पुकार - 2 || आल्हा ||

लाल टिकी, लाल महावर, चढ़ा रहे गौटा, जड़ी लाल चूनर उड़ा रहे,
माँ को कर दियो सिंगार - 2 || आल्हा ||

चंपा चमेली के हार बनाये, हलुआ पूड़ी के भोग लगाये,
माई करियो स्वीकार - 2 || आल्हा ||

शिव शंकर तेरो ध्यान लगावे, ब्रह्मा विष्णु भेद न पावे,
माँ की महिमा अपार - 2 || आल्हा ||

तीन लोक चौदह भुवनों में शीश धरे तुमरे चरणों में,
खूब हो रई जयकार - 2 || आल्हा ||

मैहर करो माँ मैहर वाली "पदम्" खड़ो है द्वार सवाली,
दर्श दई दो एक बार - 2 || आल्हा ||

-: इति :-


Share:

Are Re Tu Mahan Hai Mata

------ तर्ज:- अरे रे मेरी जान है राधा ------

अरे रे तू महान है माता, करूँ मैं गुणगान है माता,
चरणों से करना नहीं दूर माँ || अरे रे ||

माता तू बनी मैं तेरा लाल बनूँगा,
दाती तू बनी मैं निहाल बनूँगा,
शाम सुबह मैया तेरा नाम जपूंगा,
द्वार खड़ा तेरी जय जयकार करूँगा || अरे रे ||

सुन्दर नैन विशाल तू मैया भोली भली है,
मैहर करे भक्तों पे माँ तू मैहर वाली है,
तू ही अम्बे तू जगदम्बे तू ही काली है,
सब देवों में मैया तू ही शक्ति शाली है || अरे रे ||

शेर पे बैठी मैया जब किलकार लगाती है,
खड़ग चले त्रिशूल कभी तलवार चलती है,
चंड मुंड महिषासुर योद्धा मार गिराती है,
रक्त बीज के लहू से भर खप्पर पी जाती है || अरे रे ||

धरती माता अब तू ही भार हरेगी माँ,
आतंकी दानव का कब संहार करेगी माँ,
भारत की नैया को तू ही पार करेगी माँ,
"पदम्" की अर्जी जाने कब स्वीकार करेगी माँ || अरे रे ||

-: इति:-


Share:

Maa Ka Gungaan Kiya Hai

------ तर्ज:- थोड़ा सा प्यार हुआ है ------
------ फिल्म:- मैंने दिल तुमको दिया ------

माँ का गुणगान किया है, थोड़ा है बाकी,
दर पे हम आ ही गए, सर झुकाना है बाकी || माँ का ||

बहुत से मोड़ आये ज़िन्दगी के सफ़र में,
बड़ा सुख चैन पाया आके माँ की शरण में,
माँ के चरणों में पड़े रज को पाना है बाकी  || माँ का ||

किसकी झोली है खाली, मैया पहचानती है,
माँ से मांगू भला क्या, मैया सब जानती है,
लाये हैं लाल चूनर, बस उड़ाना है बाकी || माँ का ||

माँ की पूजा करोगे, माँ की भक्ति मिलेगी,
तब ही जाके "पदम्" को जग से मुक्ति मिलेगी,
मन के मंदिर में तुम्हे अब बैठाना है बाकी  || माँ का ||

-: इति :-


Share:

Tuesday, May 1, 2018

Maiyar Me Bolo Kya Hai

------ तर्ज:- चोली के पीछे क्या है ------
------ फिल्म:- खलनायक ------

मैहर में बोलो क्या है, मैहर में बोलो,
मैहर में माता मेरी, वह है विधाता मेरी,
बैठी भंडारे मैया खोल के - 2 || मैहर ||

आँचल की छाया देती - 2 कौड़ी को काया देती - 2 
निर्धन को माया देती, दुखियों के दुःख हर लेती,
माँ का जयकारा चलो बोल के - 2 || मैहर ||

तेरे द्वार पे आई - 2 छोटी सी आशा लायी - 2
गोदी में लाला दे दे, गोरा या काला दे दे,
लड्डू चढ़ाऊँगी में तोल के - 2 || मैहर ||

निर्बल को शक्ति देती - 2 भक्तों को भक्ति देती - 2
धन माया सब को दे दे, दर्शन "पदम्" को दे दे,
चरणों की रज पी जाऊं घोल के - 2 || मैहर ||

-: इति :- 

द्वार मैया के हर एक बात निराली देखी,
जाने वालों की हमने झोलियाँ खली देखी,
को पल शारदा माँ क्या से क्या कर जाती हैं,
आँख खुलते ही सब की झोलियाँ भर जाती हैं ||


Share:

Maa Ke Mandir Me Panda

------ तर्ज:- कव्वाली ------

माँ के मंदिर में पंडा पुजारी माँ की ज्योति जलाए हुए हैं,
यहाँ लगता है नौ दिन का मेला, हम भी दर्शन को आये हुए हैं ||

शेर पे बैठी है माँ भवानी, इनकी महिमा किसी ने न जानी,
लाल झंडा चढ़ाते हैं पंडा लाल चूनर उड़ाए हुए हैं ||

द्वार आते हैं कितने सवाली, आज तक कोई लौटा न खाली,
सबके भण्डार भारती हैं मैया सबपे ममता लुटाये हुए हैं ||

साधना वन्दना हम न जाने, फिर भी आये हैं माँ को रिझाने,
तन की थाली में एक फूल मन का, तेरी पूजा को लाये हुए हैं ||

हो रहे रोज आतंकी हमले, कैसे भारत मुसीबत से निकले,
तुम्ही दुर्गा, तुम्ही महाकाली, आस तुमसे लगाए हुए हैं ||

यह "पदम्" को मिला है ठिकाना माँ के दरबार से अब न जाना,
हाथ सर पे दया का माँ का रख दो, शीश दर पे झुकाए हुए हैं ||

-: इति :- 


Share:

Re Man Japle

------ तर्ज:- जट यमला पगला दीवाना ------
------ फिल्म:- यमला पगला दीवाना ------

रे मन जपले पगले दीवाने - ओ बन्दे,
मैया जी की महिमा न जाने - माने न माने,
मैया जी कमाल करती हैं || सबको  निहाल करती हैं ||

अपने ललन को माता वर देती है,
दुखियों के दुःख पल भर में हर लेती है,
ऐसी है दयालु भण्डार भर देती है,
डूबने वालों का बेड़ा पार कर देती है,
भरतीं दया से खजाने खजाने खजाने ||

अगन पवन चले मैया के इशारों में,
अमन का चमन महकता है पहाड़ों में,
पीले पीले शेर पे मैया की सवारी है,
अंगना में भक्त जनों की भीड़ भारी है,
मैया जी के भुवन सुहाने सुहाने सुहाने ||

नदियों के साथ बनाया है किनारों को,
काटों के साथ बनाया है बहारों को,
सूरज के साथ बनाया चाँद तारों को,
"पदम्" को प्यार लुटाया सेवादारों को,
मैया जी को आये हैं मनाने मनाने मनाने  ||

-:इति:- 


Share:

Contributors

Follow by Email