Tuesday, August 21, 2018

Mai Tohe Kaise Mana Lau

मैं तोहे कैसे मना लऊं मैया,
कैसे रिझा लऊं मैया || मैं ||

तीन लोक चौदह भुवनों में,
तुम सा कोई नैया || मैं ||

तेरी पूजा, तेरी वंदना,
मैं जानत कछु नैया || मैं ||

दर दर की मैंने ठोकर खाईं,
आना पड़ा तोरे पैयां || मैं ||

ब्रह्म, विष्णु और शिव शंकर,
पुनः पुनः लेत बलैयां || मैं ||

गहरी नदिया नाव पुरानी,
तुम बिन कौन खिवैया || मैं ||

भव सागर में गहरा पानी,
"पदम्" की डोलत नैया || मैं ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives