Monday, August 6, 2018

Unche Unche Parvat Par

------ तर्ज:- बाबुल का यह घर बहना ------
------ फिल्म:- दाता ------

ऊंचे ऊंचे पर्बत पर मैया का ठिकाना है,
जयकारा बोलते हुए सीड़ियाँ चढ़ जाना है ||

सबकी भर जातीं हैं झोलियाँ मुरादों की,
खाली नहीं होता है यह अद्भुत खजाना है ||

साँची साँची मैया है, सांचा सांचा द्वारा है,
शेरावाली मैया के चरणों में जमाना है ||

बड़ी बड़ी लाल ध्वजा भुवना पे लहराये,
ठंडा ठंडा जल बहता यह मंदिर सुहाना है ||

लिखेगा "पदम्" कैसे मैया तेरी महिमा को,
ब्रह्म विष्णु शिव ने तेरा मरम न जाना है ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives