Monday, January 29, 2018

Saiyaan Chodo Baiyaan

तर्ज :- रहने दो रहने दो पर्दा न
फिल्म :- कन्यादान

रहने दो रहने दो मटकी न गिराओ,
मटकी जो गिर गई तो दूध ढुल जाएगा,
सैयां छोड़ो बैयाँ-2 ||

गाँव बरसाने मुझको जाना है,
सांझ को लौट कर घर आना है,
देर भई तो सासू मारेगी,
और सखियाँ भी ताना मारेंगी || सैयां ||

मुझको छेड़ो न मैं अकेली हूँ,
तेरी राधा की मैं सहेली हूँ,
रात दिन तेरा नाम लेती हूँ,
तेरी मुरली पे जान देती हूँ || सैयां ||

जाने क्या जादू दिल पे डाला है,
नाचे मुरली पे गोपी ग्वाला है,
उनके चरणों में ध्यान लागा है,
"पदम्" ह्रदय में ज्ञान जागा है || सैयां ||

-:इति:-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives