Friday, January 26, 2018

Aas Darshan Ki Laaye Hain

तर्ज :- बड़ी दूर से आये हैं प्यार का तोहफा लाये हैं
फिल्म :- समझौता

तेरे द्वार पे आये हैं, आस दर्शन की लाये हैं,
तुम्हे विनती सुनाये हैं, आस दर्शन की लाये हैं |

तुम लाडले गौरा के शिव शंकर के दुलारे,
ज्ञान के सागर बुद्धि के देवन हारे,
गजानंद आप कहाए हैं || आस दर्शन ||

सरताज हैं देवों के रिद्धि के सिद्धि के दाता,
तेरा सवाली कोई खाली नहीं जाता,
दया की भीख लुटाये हैं || आस दर्शन ||

मैं न जानू प्रभु कैसे तुम्हारी वंदना हो,
आज "पदम्" की पूरी कामना हो,
तुम्हारे गुण को गायें हैं || आस दर्शन ||

-:इति:-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives