Monday, January 15, 2018

Kanha Ho

तर्ज :- मेरी चढ़ती जवानी
फिल्म :- दिल तुझको दिया

मेरी सास लड़ेगी कान्हा हो ----
गागर न फोड़ बैयाँ न मोड़ ||

बरसाने की मैं हूँ नार नवेली,
दध बेचन को निकली अकेली,
सर से गागर गिर पड़ेगी कान्हा हो ---- ||

जुल्मी है तू बड़ा झूठा है छलिया,
मन को लुभाए तेरी बांस की मुरलिया,
यूंही बात बढेगी कान्हा हो  ----||

श्याम घटा से काला गौरी ब्रज बाला,
राधा मोहन का है प्यार निराला,
जोड़ी अमर रहेगी कान्हा हो ---- ||

आज बनादो प्रभु बिगड़ी हमारी,
"पदम्" हैं चरणों में बलिहारी,
तेरी कृपा रहेगी कान्हा हो  ----||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives