Wednesday, January 17, 2018

Mooshe Pe Sawaari Karte Huye

तर्ज :- कव्वाली

मूषे पे सवारी करते हुए गौरा के दुलारे आएंगे ,
दर्शन करने को जल्दी चलो शिवराज के प्यारे आएंगे ||

प्रथम गणराज सुमरने से सब काम सफल हो जाते हैं ,
वो दीन दया के सागर हैं भक्तों के सहारे आएंगे || मूषे ||

क्यों धूम मची है महफ़िल में, पूछा यूं किसी दीवाने ने,
हम कहने लगे कि आज यहां गणराज हमारे आएंगे || मूषे ||

रिद्धि सिद्धि के दाता हो तुम सब के भाग्य विधाता हो,
वो नाथ "पदम" के गजधारी दीनों के सहारे आएंगे || मूषे ||


-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives