Saturday, February 24, 2018

Ashtami Aayi (जन्माष्टमी भजन)

तर्ज:- आने से उसके आये बहार
फिल्म:- जीने की राह

|| जन्माष्टमी ||

अष्टमी आई किये सोलह सिंगार,
गोकुल में छाई है खुशियाँ अपार,
जन्में हैं नंदलाला चलो दर्शन को ||

है ख़ुशी का अवसर नन्द घर लाल पैदा हुआ है,
कंस पापी तेरे वास्ते काल पैदा हुआ है,
रूप अति सुन्दर है पर है ज़रा काला || चलो ||

भादो का महिना, अष्टमी का यह दिन है सुहाना,
रात भी है आधी, होगा अवतार खुश है ज़माना,
भक्तों पर संकट में आया है रखवाला || चलो ||

हो सफल यह जीवन उनके चरणों में डेरा लगाले,
इस जहाँ की नैया के खिवैया "पदम्" मुरली वाले,
लाज मेरी रख लेना गिरधर गोपाला || चलो ||

-: इति :- 


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email