Thursday, April 12, 2018

Sunri Maiya Tera Kanhaiya

------ तर्ज :- एक दाल पे तोता बोले ते एक डाल ते मैना ------
------ फिल्म :- चोर मचाये शोर ------

सुनरी मैया तेरा कन्हैया, लेकर ग्वालों की सेना,
माखन खाए मटकी फोड़े और लड़ाए नैना || बोलो है ना ||

जमुना तट पर नन्द का लाला मुरली मधुर बजाये,
कोई नवेली मिले अकेली छेड़ करे भग जाए,
छेड़कर भग जाए छलिया हाथ न आये,
सखियों के संग रास रचाये, लूटे दिल का चैना || बोलो है ना ||

एक समय हम सारी सखियाँ जमुना जल में नहाये, 
चीर चुराके कदम पे बैठा सखियाँ हा हा खायें,
सखियाँ हा हा खाये बाहर कैसे आयें,
लाज की मारी सखियाँ हारी इसको शर्म लगेना || बोलो है ना ||

हँसकर बोले माँ से कान्हा यह सब झूठ लगाये,
मेरे मूँह में लगा के माखन मुझको चोर बनायें,
मुझको चोर बनाये और शिकायत लायें,
"पदम्" कमी क्या दूध दही की मुझे क्या लेना देना || बोलो है ना ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives