Tuesday, April 24, 2018

Bam Bhola Bhandaari

बम भोला भंडारी,
जपे है दुनिया सारी ||

ऐसी भांग गले से लगाई,
गौरा की शामत बन आई,
घोंट घोंट कर हारी || जपे ||

मरघट में जब डमरू बजाये,
भूत चुड़ेलें उठ कर आयें,
नाचे दे दे तारी || जपे ||

शिव शंकर हैं ओघड़दानी,
मूंह माँगा वर दें वरदानी,
भक्तन के हितकारी || जपे ||

अमृत की बरसात हैं बाबा,
सब दुखियों के साथ हैं बाबा,
"पदम्" है शिव का पुजारी || जपे ||

-: इति :- 



Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives