Friday, April 20, 2018

Jare Jare Manwa Ramji Ke Dwar

------ तर्ज:- जारे कारे बदरा ------
------ फिल्म:- धरती कहे पुकार के ------

जारे जारे मनवा राम जी के द्वार,
वह ही तेरी नैया लगायेंगे पार ||
हरी धुन गा ||

बचपन बीता जवानी रंग लायी,
विरहन के संग तूने रतियाँ बिताई,
तेरा रंग रूप रहेगा दिन चार || वो ही ||

जब तो पे मूरख बुढ़ापा जो आये,
यम तेरी साँसों पे पहरे लगाए,
अंत काल तू न हरी को बिसार || वो ही ||

जब तेरी दौलत के साये हटेंगे,
सभी अपने वाले किनारा करेंगे,
झूठी तेरी प्रीत है झूठा संसार || वो ही ||

हरी नाम जपले सुमरले रे बन्दे,
कटेंगे "पदम्" मोह माया के फंदे,
तभी तेरा दुनिया से होगा उद्धार || वो ही ||

-: इति :- 


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives