Thursday, April 12, 2018

Manao Gajanand Ko Aan Re

------ तर्ज:- चलाओ न नैनों से ------
------ फिल्म :- बोल बच्चन ------

मनाओ गजानंद को आन रे, लेलो लेलो वरदान रे,
ध्यान लगा है ध्यान रे, लगा चरणों में ध्यान रे,
कहीं निकल न जाए - 2 ऐसा मौका नादान रे,
शामिल भी हो - 2 हमरा भक्तों में नाम रे ||

तुमको मनाने को आये हैं हम,
लड्डू चढ़ाने को लाये हैं हम,
गौरा के प्यारे गजानंद हैं,
इनके ही चरणों में आनंद है || कहीं निकल ||

देवा के द्वारे पे आयेंगे हम,
देवा के गुणगान गायेंगे हम,
पूजा और भक्ति से अनजान हैं,
सेवक तुम्हारे हैं नादान है  || कहीं निकल ||

गनपत के जो भी भजन गायेंगे,
भव सिंध से जीव तर जायेंगे,
माया के फंदे भी कट जायेंगे,
विपता के बादल भी छट जायेंगे  || कहीं निकल ||

मूषे पे देवा सवारी करें,
झोली हमारी तुम्हारी भरें,
रिद्धि और सिद्धि के संग आयेंगे,
बिगड़ी "पदम्" की बना जायेंगे  || कहीं निकल ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email

Archives