Monday, July 23, 2018

Tumso Koi Naiya

------ तर्ज:- ठुमक ठुमक मैया आ जइयो "जस"------
------ आई है पूजा की बेला रे ------

बीजासेन की मैया रे, तुम सो कोई नैंया - 2
हाँ हाँ रे तुमसो कोई नैंया ||

बीजासेन को नाम बड़ो है,
सलकनपुर स्थान चुनों है,
पीपल की ठंडी छैयां रे || तुमसो ||

गनपत को द्वारे बैठारो,
शिव शंकर करे ध्यान तुम्हारो,
गौरा लेत बलैयां रे || तुमसो ||

हनुमन लाल ध्वजा फेहराये,
भैरों भैरवीं नाचे गायें,
खेलत छील विलैयां रे || तुमसो ||

मैया सबकी झोली भारती,
मन की आशा पूरी करती,
"पदम्" पड़े तोरे पैयां रे || तुमसो ||

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email