Sunday, May 13, 2018

Maal Khazana Mil Gaya

------ तर्ज:- लाल दुपट्टा उड़ गया ------
------ फिल्म:- मुझसे शादी करोगी ------

माल खज़ाना मिल गया मुझे माई के चरणों से,
माँ के चरण की धुल मिली तो, लागाली नयनों से,
अधम हूँ जान लेगी वह, मगर मुझे तार देगी वह || माल ||

ऊंचे ऊंचे पर्वत पे माँ खोल दुअरिया बैठी है,
अपने ललन के दुःख हरने माँ ओढ़ चुनरिया बैठी है,
माँ शेरावाली जय अम्बे, माँ ज्योति वाली जगदम्बे,
मैया का जयकारा गूंजे बहते झरनों से || माँ के ||

लाल तुम्हारे द्वार खड़े हैं, थोड़ी कृपा कर दो माँ,
आस लगाकर आये हैं माँ, अब तो झोली भर दो माँ,
एक द्वार चाहिए मैया का, हमें प्यार चाहिए मैया का,
माँ बेटे का अमर है नाता सुना है अपनों से || माँ के ||

मैया का दीदार मिलेगा मैया जी को भजने से,
जीवन में सुख चैन मिलेगा माँ की सेवा करने से,
माँ मेहरा वाली दुःख हरनी, माँ नैना वाली सुख करनी,
"पदम्" चलो मैया को मानलो अपने भजनों से || माँ के ||

-: इति :- 



Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email