Saturday, December 30, 2017

Krishna Bhaiya Dushasan Udhari Kare

तर्ज :- गंगा मैया में जब तक की पानी रहे
फिल्म:- सुहागरात 1968

कृष्ण भैया दुशासन उधारी करे,
तेरी बहना की पापी खुआरी करे-2
भैया, हो कृष्ण भैया  । । भैया । ।

मेरे स्वामी जुए में हैं हारे, 
ऐसे बैठे हुए मन को मारे,
अब सहारा मिले तो किनारा मिले,
वरना यह लाज पापी हमारी हरे - 2 । । भैया । ।

भक्त प्रह्लाद ने जब बुलाया,
खम्ब से तुमने उसको बचाया, 
ग्राह मारन किया गज का तारन किया,
याद बहना कन्हैया तुम्हारी करे - 2 । । भैया । ।

खींचते खींचते पापी हारा,
आ गया था वहां मुरली वाला,
चीर द्रौपदी बड़ा देखे पापी खड़ा,
"पदम्" सबकी रक्षा मुरारी करे । । भैया । ।

-: इति :-


Share:

0 comments:

Post a Comment

Contributors

Follow by Email